Sunday, 13 June 2010

रिजेक्ट

मैं फिर रिजेक्ट हो गयीघर मे मातम पसरा है, जैसे देश मे धमाके के बाद पीड़ित परिवारों मे हो जाता है और टीवी पर दिखा रहे और देख ने वालो के लिए एक रिअलिटी शो से ज्यादा कुछ नही होता है वो ही माहोल हमारे घर का था माँ ,पापाजी और भाई दुखी थे और दूसरी तरफ रिश्तेदार इस घटना का लुत्फ़ उठाने और अपनी विशेष टिप्पड़ी देने मे व्यस्त थे, कोई दुखी दिख के मज़ाक उड़ा रहा था कोई ज्ञानी बन के, पर मज़ाक सब उड़ा रहें थे
जब सब को लगा पापा और मम्मी ध्यान नही दे रहें है या ये कहे स्वयं ही खोये हुए है तो बुआजी ने चिर परिचत अंदाज़ मे रोना शुरू कर दिया और २७ सालो से बलि का बकरा बनती आ रही माँ को ताने मारना शुरू कर दिया उमा की ही गलती है उसने ही बच्चो का ठीक से लालन पालन नही कीया, मेरी फूल सी बच्ची पर थोडा सा भी ध्यान रखा होता तो आज रिजेक्ट नही होती, बेचारी, सातवी बार लड़के वालो ने मना कीया है कितना बुरा लग रहा होगा, काश उमा मे थोड़ी सी अक्ल होती, अरे अब लड़की तुम पर चली गयी तो थोडा केयर कर लो, तुम्हारा वाला जमाना चला गया - की काली है फिर भी शादी हो गयी वैसे होता तो पहले भी नही था, पर छोड़ोइसके कारण मेरी बच्ची की ज़िन्दगी बर्बाद हो रही है कौन करेगा इससे शादी और करेगा भी तो कितनी बार ना सुनने के बादउमा रो रो के कमजोरी हो रही है और तू बुत बनी खड़ी है, चाय ही पिला दे मेरे भाई और हम सब को
माँ - जी
बुआजी - देख हर चीज़ बतानी पड़ती हैहे राम इस का क्या करा जाये, कुछ नही आया अभी तक ,चलो शादी से पहले कुछ नही सीखा पर अब तो सीख लो, वही बात है जब माँ को ही कुछ नही आता तो बच्चो से क्या उम्मीद करे - गोरी भी नही और संस्कार भी नही, अब तो चमत्कार ही हो तो बात बने

राहुल - दीदी पे रिजेक्ट का टेग ना लगाये. गोरी का क्या मतलब?? जैसे भारतीय होते है वेसी ही तो होगी या फिर गोरे होने के लिये फैर की बोतले पीले हद ही हो रही है सब ऐसे कह रहें है जैसे लड़के ह्रतिक रोशन हो एक बार अपने लडको को तो देख लो गोरी, लम्बी चाहिये, अरे शादी के बाद मोडलिंग करवानी है मेरी बहन की शादी हो जायेगी किसी को चिंता की जरुरत नही है

शरद चाचा - अरे मेरे युवराज तेरी दीदी को कोई कुछ नही कह रहा है,बस बात कर रहें है, आखिरकार हमारी भी बच्ची है, क्यों बिटिया बोलो, कुछ बोलना है तो बोलो, नही बोलना, कोई बात नही, बिटिया सब जानती है सब शांत रहो एक और लड़का है उसे कल अपनी बिटिया को दिखा देते है शायद वो हाँ कह दे वर्ना और लडको को दिखायेंगे, कोई तो हमारी कल्लो परी को हाँ कर ही देगा अब इतनी भी काली नही है

राजा चाचा - हाँ इतनी काली नही है ########
प्रफुल चाचा - ########
शरद चाचा -######
ममता बुआ -#######

सब खुद को महत्वपूर्ण सदस्य बताने मे व्यस्त हो गये है और मैं स्वयं में अभी मेरी स्थिति प्रधानमंत्री जैसी ही है ना कुछ बोल सकती हूँ ना कुछ कर सकती हूँ क्यों की हाई कमांड (पापाजी) बोलने की स्थिति मे नही थे और उन्हें सब को ले कर परिवार (सरकार) भी चलाना था
वर्ना ममता बुआजी या शरद चाचा अलग होने की धमकी दे देगे तो राहुल भाई के करियर (पे जो सब ने खर्चा कीया है वो वापस ले लिया तो) पर अल्प विराम लग जायेगा !

चित्र www.google.com से लिया गया है।

5 comments:

  1. behad sashakt lekh.....aapki kalam se samaaj ki vastavikta pratibimbit hoti hai....

    गोरी, लम्बी चाहिये, अरे शादी के बाद मोडलिंग करवानी है।
    ekdam sahi tark diya hai aapne...is bindu par to sabhi ladke waalon ko vichaar karna chahiye........behtareen.....aashaa hai aapko padhane ka avsar punah shighra hi prapt hoga..badhai.

    ReplyDelete
  2. बढ़िया प्रस्तुति पर हार्दिक बधाई.
    ढेर सारी शुभकामनायें.

    संजय कुमार
    हरियाणा
    http://sanjaybhaskar.blogspot.com

    ReplyDelete
  3. achhi pastuti hai
    aj samaj me ladki aise hi apman sahti hai

    ReplyDelete
  4. bada hi sarthak vyangy kiya hai aapne..

    ReplyDelete
  5. Jo kahte hain ki "ham, hamara samaaj, hamari vichardhara badal rahi hai" unhe ye lekh jaroor padhna chahiye...

    ReplyDelete